Breaking

Monday, October 28, 2019

सफलता के सूत्र। Success formula in Hindi

जानिए सफलता के 2 सूत्र। success formula in Hindi




Hello everyone स्वागत है आप सभी का एक बार फिर से आज के इस लेख में हम आपको सफलता के सूत्र success formula in Hindi बताएंगे
जिससे आप अपने लक्ष्य तक आसानी से पहुंच पाएंगे या फिर आपके लक्ष्य के बीच की बाधा दूर हो जाएगी।
" आपके आस पास के लोगों से तय होगा कि आपका भविसी क्या होगा"
समय का सही उपयोग करने के 5 टिप्स।

Power of subconscious mind

सफल लोगो की 7 आदतें।

सफलता के सूत्र। Success formula in Hindi

आज कल बहुत सारे ऐसे लोग हैं जो जाने अनजाने में गलत राहों पर चल रहे हैं, गलत लोगो के साथ उठ बैठ रहे हैं, गलत लोगो से परामर्श कर रहे हैं आदि। आप खुद ने अपने जीवन में अवलोकन किया होगा कि कभी कभी तो हम ऐसे लोगो से किसी काम की सलाह लेते हैं जिसने कभी वह करा ही नहीं हो यानी मान लीजिए आप कोई बिजनेस स्टार्ट करना चाहते हो ओर उस बिजनेस के बारे में किसी ऐसे व्यक्ति से सलाह लेते हैं जिसने कभी किया ही नहीं तो वह आपको क्या सलाह देगा या तो वह कहेगा कि यह बिजनेस नहीं चलेगा या फिर यह कहेगा इस बिजनेस में मेरे मामा जी का लड़का भी फ़ैल हो गया है यानी कुलमिलाकर आपको नेगेटिव करेगा ओर आप उसकी बातो में आकर वह बिजनेस स्टार्ट करने से रुक जाते हैं फिर दूसरा करना चाहते हैं फिर वही समस्या ऐसे करते करते आप कभी भी कोई प्रकार का बिजनेस स्टार्ट नहीं करते हैं अगर आप कर भी देते हैं तो पहले से सुनी गई नेगेटिविटी बाते आपके अवचेतन मन में आती रहती है और आप उस बिजनेस में असफलता का शिकार हो जाते हैं।
तो में आपको यह बात समझाने की कोशिश कर रहा हूं कि आप किन लोगो से सलाह परामर्श करते हैं किसके साथ उठते बैठते हैं यह ही आपका भविष्य तय करता है।
अब हम बात करते हैं सफलता के पहले सूत्र की।



1.avoid the negative people

आप ऐसे लोगो से दूर रहे को आपके लक्ष्य के बीच अड़चने डालते हैं। जो आपको गलत रास्ता दिखाता है, आपको नेगेटिव एनर्जी देता है,आदि।
आपके आस पास बहुत सारे लोग हैं जो लगातार आपका ब्रेन वाश कर रहे हैं तो अभी उनका साथ छोड़ दीजिए नहीं तो बहुत बुरा अंजाम होगा।
उदहारण के लिए रामायण में भगवान राम से माता केकैया बी उतना ही प्रेम करती थी जितना माता कोशल्या करती थी लेकिन ककैया के बीच में मंतरा अा गई और लगातार केकया का नेगेटिव ब्रेन वाश करती रही और अंजाम क्या हुआ वह राम से नफ़रत करने लगी और भगवान राम को वनवास देने की इच्छा रखने लगी मतलब की में आपको यह बताना चाह रहा हूं कि केसे एक मंथरा ने पूरा ब्रेन वाश कर दिया इस लिए आप पता करे कि कहीं आपके आस पास भी ऐसे लोग तो नहीं रहे हैं जो आपको अपने लक्ष्य से दूर ले जा रहे हैं या कोई गलत रास्ता दिखा रहे हैं।
दूसरा उदाहरण महाभारत में मामा शकुनि ने केसे दुर्योधन का ब्रेन वाश किया जिसके चलते पूरे के पूरे 100 कोरव युद्ध में हार गए क्यो की उनका ब्रेन वाश गलत तरीके से हो रहा था वहीं दूसरी तरफ अर्जुन का ब्रेन वाश भगवान श्री कृष्ण कर रहे हैं तो उनको अच्छा परिणाम मिले।
मेरे कहने का मतलब यह है कि कही आपके जीवन में भी मंथरा ओर शकुनि जैसे लोग तो नहीं है जो आपको अधर्म या अपने लक्ष्य से भटका रहे हैं अभी पता करे और तुरंत उनसे दूर हो जाए नहीं तो परिणाम अच्छा नहीं आएगा।
आप नेगेटिव लोगो को अवॉइड करे और उनसे दूर रहे हैं उनके साथ किसी भी प्रकार का बिजनेस या कोई दूसरा काम का परामर्श नहीं करें, उन्हें अपने लक्ष्यों के बारे में नहीं बताए, ऐसे लोगो से अपने सीक्रेट बताने से बचे, नेगेटिव लोगो के साथ बात चीत ना करें तो अच्छा है, उनके साथ उठाना बैठना बंद कर दे, कोई सलाह नहीं ले, ओर यहां तक कि ऐसे लोगो को को सही सलाह या समझाने की कोशिश भी नहीं करें क्यो की यह आपको भी उनकी बातो में उलझा लेंगे तो आप नेगेटिव, हारे हुए व्यक्ति, असफल व्यक्ति, unhappy लोगो से दूरी बनाए ओर अपने काम पर फोकस करें तो बहुत अच्छा रहेगा।



2. जिम्मेदारी को समझना।

सफलता के मुख्य कहीं सूत्रों से से दूसरा मुख्य सूत्र है अपनी जिम्मेदारी को समझना आज तक जितने भी लोग सफल हुए हैं खुद की जिम्मेदारी को समझा है और जिम्मेदारी ली है आप एक बात ध्यान रखें " जिम्मेदारी कभी दी न जाती हैं हमेशा ली जाती है"
जिम्मेदार व्यक्ति कभी भी अपने लक्ष्य से दूर नहीं रहते हैं। जीमेदारी लेने वाला व्यक्ति हर समय, हर जगह, हर कार्य, हर परिस्थिति में सफल होते हैं।
आप सभी यह बात तो अवश्य जानते होंगे कि अगर आप कहीं भी किसी भी संस्थान में नोकरी कर रहे हैं और वह काम जिम्मेदारी के साथ करते हैं यानी खुद का काम समझ कर करते हैं तो वह उस संस्थान में टॉप लेवल पर जाते हैं लेकिन आज कल क्या होता है अगर जॉब बी कर रहे हैं और ऐसे करते हैं हमारा तो आठ घंटे का कार्य समय हम अपना काम करें बाकी के काम से क्या लेना देना है तो ध्यान दीजिए में आपसे कहे रहा हूं ऐसे लोग कभी भी अपने जीवन में ग्रोथ नहीं कर पाते हैं। इस लिए आप जो भी काम कर रहे हैं तो उसे जिम्मेदारी के साथ करें।
जिम्मेदारी लेना तो कोई हनुमान से सीखना चाहिए या फिर भगवान राम के छोटे भाई भरत से सीखना जिन्होंने अपनी जिम्मेदारी कितनी अच्छे तरीके से निभाई जब भगवान राम अयोध्या छोड़ कर वनवास गए हैं तो भरत कुमार ने अपने बड़े भाई राम के चरण पादुका को लेकर अयोध्या के सिंहासन पर रखकर 14 साल तक एक सेवक की भांति भरत ने निभाई है।
में आपसे कहना चाहता हूं कि आप जिस भी क्षेत्र में, जहां कहीं भी, किसी भी परिस्थिति में अपनी जिम्मेदारी को समझिए आपको कामयाब होने से कोई नहीं रोक सकता है।
सफलता का दूसरा सूत्र कहता है कि जिम्मेदार व्यक्ति हर कार्य में सफलता हासिल करने में सफल होता है।
5 quality of good leader

Morning habits of successful people

समय का सही उपयोग केसे करें।

Conclusion

सफलता के मुख्य कहीं सूत्रों में से आपको इन दो सूत्रों के बारे में बताया है कि कभी भी आप गलत लोगो की संगति नहीं करें क्यो की "जैसी संगत वेसी रंगत" अगर आपके जीवन में ऐसे लोग हैं तो उनको अवॉइड करें और दूसरे सूत्र में कहा गया है कि अपनी जिम्मेदारी को समझ ओर कोई भी कार्य करें तो उसे पूरी जिम्मेदारी के साथ निभाए अगर आप इन दोनों सूत्रों को अपने जीवन में उतारते हैं तो आप सफलता के बेहद करीब हो जाते हैं।
ओर आज ही अपने आस पास के नेगेटिव लोगो की लिस्ट बनाए ओर उनसे तुरंत दूरी बनाए।
अगर आपको सफलता के सूत्र। Success formula in Hindi  की जानकारी सही लगी है तो अपने दोस्तो के साथ भी शेयर करें ताकि वह भी इन लोगो से दूरी बनाए रखें।
धन्यवाद।

No comments:

Post a Comment