Breaking

Monday, August 12, 2019

Coaching classes केसे खोले।

एक सक्सेसफुल Coaching classes केसे खोले।

हेल्लो दोस्तों स्वागत है आप सभी का एक बार फिर से

new business ideas

में, आज के इस लेख में हम जानेंगे coaching classes केसे खोले।

के बारे में। अगर आपने भी अपना coaching classes खोलने का मन बना लिया है तो यह पोस्ट आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण है। इस आर्टिकल में हम किया कोचिंग खोलने की सारी प्रतिक्रिया जानेंगे, जिसमें स्थान का चयन, सब्जेक्ट का चयन, लोकेशन, कोचिंग में लगने वाली लागत ओर कोचिंग खोलने के फायदे तो मेरी आपसे गुजारिश है आप इस लेख को एंड तक जरूर पड़े ताकि आप को पूरी सही जानकारी मिल सके।
Coaching classes केसे खोले।

दोस्तो हम सभी इस बात को अच्छी तरह से जानते हैं, आज के समय में शिक्षा का कितना महत्व बड़ गया है। हर माता पिता अपने बच्चों को अच्छे संस्थान में पड़ना चाहते हैं साथ ही अच्छी कोचिंग करवाना चाहते हैं। ओर एक बात हम सब को पता है कि आज के समय में स्कूल से ज्यादा कोचिंग का महत्व बड़ गया है। हर माता पिता अपने बच्चों को अच्छे कोचिंग में पड़ना चाहते हैं। जिससे कि उनको अच्छी शिक्षा मिले ताकि अच्छा भविष्य बने। इसको देखते हुए कोचिंग संस्थान की मांग बहुत बड़ गई है। अगर आप भी किसी सब्जेक्ट या क्षेत्र में मास्टर है तो आप कोचिंग संस्थान खोलकर अच्छी कमाई कर सकते हैं। दोस्तो आज के समय में हर बचे को कोचिंग की जरूरत है। इसका फील्ड बहुत बड़ा हो चुका है। ओर रात दिन में इसमें ग्रोथ होती जा रही है। बड़े बड़े शहरों में कहीं कोचिंग संस्थान खुल रहे हैं। जिसमें हजारों की तादाद में बच्चे पड़ने आते हैं। जिससे लाखो रुपए की कमाई हो रही है। दोस्तो में आपको एक बात और बताना चाहूंगा कोचिंग इंडस्ट्री में लगातार वृद्धि होती जा रही है। ओर आने वाले समय में यह सबसे बड़ी इंडस्ट्री होने वाली है।
अगर आप एक कोचिंग क्लासेस खोलकर आप पचास हजार से एक लाख रुपए तक आराम से कमा सकते हैं।
आज के समय में जितना जरूरी स्कूल जाना हो गया है उतना ही ज्यादा जरूरी कोचिंग भी जाना हो गया है।

एक सफल कोचिंग क्लासेस खोलने के लिए क्या क्या जरूरी है।


  • सही जगह का चयन।
  • कोचिंग सेंटर के लिए आवश्यक सुविधा।
  • Select the subject
  • Coaching hall
  • Decide fees
  • कोचिंग खोलने की लागत।
  • कोचिंग की मार्केटिंग
  • कोचिंग संस्थान की रजिस्ट्रेशन की प्रोसेस।
  • कोचिंग पर स्टूडेंट्स को आकर्षित करने के उपाय।
  • कोचिंग क्लासेस से होने वाली कमाई।
  • स्कोप ऑफ कोचिंग classes
  • Types of coaching classes
  • Advantage of coaching classes


यह सब पॉइंट हम इस आर्टिकल में कवर करने वाले हैं तो आप अंत तक जरूर पड़े ताकि आपको coaching classes केसे खोले। की पूरी जानकारी मिल सके।

How to choose loveloca for Coaching classes

आप कोचिंग क्लास खोल रहे हैं और आपने सही जगह का चयन नहीं किया है तो आपका कोचिंग चलने में बहुत प्रॉब्लम होएगी ओर आप ज्यादा कमाई नहीं कर सकते हैं। इस लिए सही जगह का चयन करना बहुत जरूरी है।

कोचिंग क्लासेस के लिए सही जगह का चयन केसे करें।


  • सबसे पहले आप अपने टारगेट स्टूडेंट्स को पहेचाने। ( आप किस क्लास सब्जेक्ट,स्कूल स्टूडेंट, कॉलेज स्टूडेंट, या तयारी करने स्टूडेंट किसके लिए कोचिंग खोल रहे हो।
  • उसके उन्हीं के आस पास जगह का चयन करें।
  • ऐसी जगह का चयन करें जहा पर स्टूडेंट्स को आने जाने में कोई परेशानी ना हो।
  • कोचिंग के आस पास शोर शराबा ना हो।
  • यदि आपका घर ऐसी जगह है तो आप अपने है घर कोचिंग क्लास खोल सकते हैं।
  • उस जगह का चयन करें जहा हॉस्टल,कॉलेज , स्कूल हो।


कोचिंग क्लासेस के लिए आवश्यक सुविधाएं।

अगर आप कोचिंग संस्थान या क्लासेस खोल रहे हैं तो उसमे सभी जरूरत के समान होना जरूरी है। यदि नहीं है तो आपके कोचिंग का इंप्रेशन खराब भी हो सकता है।
मेरे कहने का मतलब है कि आज का  डिजिटल युग  है तो आपके पास भी इसी प्रकार की सामग्री होना चाहिए।

  1. स्टूडेंट के बैठने के लिए फर्नीचर का होना जरूरी है।
  2. बाथरूम ओर पीने का पानी होना जरूरी है।
  3. कोचिंग हॉल में पंखे, एयर कंडीशनर होना अनिवार्य है।
  4. अपने सब्जेक्ट से रिलेटेड सभी किताबे होना जरूरी है।
  5. एक कंप्यूटर सिस्टम होना जरूरी है।
  6. आपके साथ एक लैपटॉप होना चाहिए। ताकि किसी quation का उत्तर आपको पता नहीं है तो आप इंटरनेट से सर्च करके बता सके।
  7. ब्लैक बोर्ड होना चाहिए।


यह सभी सुविधाए आपको स्टूडेंट को उपलब्ध करानी है।

How to select subject

दोस्तो कोचिंग को सफल बनाने के लिए सब्जेक्ट का चयन होना जरूरी है। अगर आप खुद कोचिंग पढ़ाएंगे तो आप उस विषय का चयन करें जिसमें आप को मास्टरी हासिल हो।

  • आप उस सब्जेक्ट का चयन करें जिसमें आपको अच्छी खासी नॉलेज हो।
  • आप उस सब्जेक्ट का भी चयन कर सकते जो आपके क्षेत्र में कोई नहीं पड़ता हो।
  • आप अपने क्षेत्र के स्टूडेंट्स के आधार पर विषय का चयन करें।
  • अपने क्षेत्र की शिक्षा को समझना चाहिए।
  • अपने रुचि के सब्जेक्ट का चयन करें।
  • अगर आप सभी विषयों की कोचिंग क्लासेस खोल रहे हैं तो अच्छी टीम का निर्माण करे जो अलग अलग विषयों में मास्टर हो।


कोचिंग हॉल केसा होना चाहिए।

दोस्तो में आपको एक बात बताना चाहूंगा कि आज कल के स्टूडेंट्स को शिक्षा के साथ साथ अच्छी सुविधा भी देना जरूरी हो गया है। अगर आप अपने स्टूडेंट्स को अच्छी सुविधा देते हैं तो आपके कोचिंग क्लासेस पर स्टूडेंट्स की संख्या भी बड़ने लगेगी।
  • आपका कोचिंग हॉल इतना बड़ा होना चाहिए कि सभी बेच के स्टूडेंट्स आराम से बैठ सके।
  • कोचिंग हॉल में पंखे एयर कंडीशनर की सुविधा होनी चाहिए।
  • फर्नीचर की सुविधा होनी चाहिए।
  • आस पास शोर नहीं होना चाहिए।
  • अपने हॉल में मोटिवेशनल किताबे रखी होना चाहिए।
  • अगर कोचिंग हॉल बड़ा है और स्टूडेंट्स की संख्या ज्यादा है तो वहा पर साउंड का सिस्टम होना चाहिए पड़ाने के लिए।




Decide coaching fees

सबसे पहले दोस्तो में आपको बताना चाहूंगा की अगर आप स्टूडेंट्स को अच्छी शिक्षा देते हैं तो आप मनचाही फीस पा सकते हैं। सबसे पहले आप को अच्छा पड़ाने पर फोकस करना चाहिए। जिसके बाद आप फीस को तय करिए। क्यो की दोस्तो अगर आप अच्छी शिक्षा दोगे तो स्टूडेंट्स चल कर आएंगे। आप फीस निम्न आधार पर तय कर कर सकते हैं।
  • ज्यादा डिमांड वाले विषयों की फीस ज्यादा रख सकते हैं। जैसे- साइंस, कॉमर्स और मैथ्स आदि।
  • आप कक्षा के आधार पर फीस तय कर सकते हैं।
  • आपकी फीस ऐसी होनी चाहिए जो स्टूडेंट्स को ज्यादा ना लगे।
  • आप एक सब्जेक्ट 500-1000 चार्ज कर सकते हैं।
  • आप कक्षा 8 वी से कम के बच्चो से सभी विषय की फीस 1000-2000 रुपए ले सकते हैं पर महीने।


Coaching classes खोलने की लागत।

दोस्तो में आपको बताना चाहूंगा की लागत आपकी कोचिंग क्लासेस के ऊपर निर्भर करता है। आप किस तरह की कोचिंग खोलते हैं। 
जैसे- किसी बड़ी कोचिंग की franchise लेते हैं या खुद की कोचिंग क्लासेस ओपन करते हो, एक सब्जेक्ट की कोचिंग क्लासेस खोलते हो या सभी सब्जेक्ट्स की खोलते हो यह लागत इस आधार पर निर्भर होती हैं।

किसी बड़े कोचिंग क्लासेस की फ्रेंचाइजी लेते हैं तो आप को लगभग पांच लाख रुपए की लागत लगेगी। 

खुद का कोचिंग क्लासेस खोलने की लागत।

  • अगर आप अपने खुद के घर में कोचिंग क्लासेस खोल रहे हैं तो आपके किराए के पैसे बच जाएंगे।
  • नहीं तो आपको 2000 से 10000 रुपए कोचिंग हॉल के देने पड़ सकते हैं पर महीने। यह आपके क्षेत्र के आधार पर निर्भर करता है।
  • कमरे में पंखे ओर एयर कंडीशनर की लागत।
  • ब्लैक बोर्ड की लागत।
  • एक कंप्यूटर सिस्टम की लागत।
  • अगर आप कोचिंग क्लासेस पर टीचर्स रखते हैं तो उनकी सैलरी।
  • कोचिंग की मार्केटिंग या प्रचार करने का खर्चा।
सभी प्रकार की लागत को मिलाकर आपके कोचिंग क्लासेस की लागत एक लाख से दो लाख रुपए तक हो जाती है।


अपनी कोचिंग क्लासेज का प्रचार केसे करें।

दोस्तो आपने जान लिया coaching classes केसे खोले

ओर आपने कोचिंग संस्थान खोल लिया है और उसकी मार्केटिंग ओर प्रचार नहीं किया है तो आप सफल नहीं हो पाएंगे। अपने कोचिंग classes  कि मार्केटिंग बहुत जरूरी है।
आप निम्न तरह से अपनी कोचिंग की मार्केटिंग या प्रचार कर सकते हैं।
  1. आप अपने कोचिंग की मार्केटिंग सोशल मीडिया पर कर सकते हैं। यहां पर आप अपने कोचिंग के छोटे छोटे विडियो बनाकर सोशल मीडिया पर अपलोड कर सकते हैं। क्यो की आज के समय में सबसे ज्यादा लोग या स्टूडेंट्स सोशल मीडिया पर एक्टिव रहते हैं।
  2. आप अपनी कोचिंग क्लासेज का विज्ञापन करा सकते हैं। न्यूज़ पेपर में या टीवी में।
  3. आप अपनी कोचिंग के पोस्टर लगा सकते हैं लोकल एरिया में।
  4. पंपलेट बाट सकते हैं दूसरे कॉलेज या स्कूलों के सामने।
  5. अपना विजिटिंग कार्ड बनवा कर बाट सकते हैं।
  6. आप फ्री डेमो क्लास दे सकते हैं।
ओर में आपको बताना चाहूंगा की सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि अगर आपके पड़ाने की कला अच्छी और आप स्टूडेंट्स को अच्छी शिक्षा दे रहे हैं तो आपको प्रचार करने की कोई जरूरत नहीं है, आपकी कोचिंग की मार्केटिंग या प्रचार खुद स्टूडेंट्स ही कर देंगे।

कोचिंग क्लासेस की registration की प्रकिया।

दोस्तो में आपको बताना चाहूंगा की अगर आप छोटे स्तर पर कोचिंग क्लास खोलते हैं तो,आपके लिए किसी registration की जरूरत नहीं है। आप जब चाहें तब अपना कोचिंग क्लास खोल सकते हैं।  
लेकिन आप एक संस्था के रूप में कोचिंग सेंटर खोलना चाहते हैं तो आपको केंद्र के माध्यम से उत्पन्न राजस्व के लिए एक व्यापार लाइसेंस प्राप्त करना पड़ेगा। ओर आपको कर का भुगतान करना होगा। क्यो की यह एक बिजनेस के रूप में अा जाती हैं। इस लिए आपको सरकार को टैक्स देना पड़ता है।

स्टूडेंट्स को केसे आकर्षित करें।

मैने पहले भी कहा कि अगर आपने किसी सब्जेक्ट पर मास्टरी हासिल कर रखी है तो आपके कोचिंग क्लासेस पर बच्चे अपने आप आकर्षित होने लगेंगे। यह आपकी शिक्षा पर निर्भर करता है कि आप किस तरह स्टूडेंट्स को पढ़ाते हैं।
इसके अलावा आप स्टूडेंट्स को आकर्षित करने के निनम उपाय कर सकते हैं।
  • बोनस देना उसका मतलब अगर कोई स्टूडेंट आपकी कोचिंग क्लासेस पर कोई अन्य स्टूडेंट्स को लाता है तो आप उसे बोनस दीजिए। जैसे- एक महीने की फीस माफ कर देना।
  • अपनी कोचिंग सेंटर का प्रमोशन ओर विज्ञापन करे।
  • अपने प्रतिद्वंदी से अच्छी सुविधा और शिक्षा दे।
  • अपने विजिटिंग कार्ड बाटे।
  • स्टूडेंट्स को फ्री डेमो क्लास दे।
  • Intelligent students  या टॉप स्टूडेंट्स को सोशल मीडिया या पोस्टर पर पर्जेंट करे।

कोचिंग क्लासेस से इनकम कितनी होती हैं।

इनकम आपकी कोचिंग क्लासेस पर निर्भर करती है। सबसे पहले में आपको बताना चाहूंगा की आप जिस तरह की कोचिंग क्लासेस खोलेंगे उस तरह की इनकम होएगी।
अगर आपके पड़ाने की कला अच्छी है और आपके पड़ाने के तरीके स्टूडेंट्स को पसंद अा रहे हैं तो आप एक दिन में पांच से छह बेच स्टार्ट कर सकते हैं। ओर प्रत्येक बेच का समय दो घंटे रख सकते हैं और एक बेच में आपके पास पचास स्टूडेंट्स होते हैं। ओर आप प्रत्येक स्टूडेंट्स से पांच सौ रुपए लेते हैं तो आपको एक बेच से 25000 रुपए की कमाई कर सकते हैं और पांच बेच से 125000 रुपए की कमाई कर सकते हैं। सारा खर्चा निकाल कर आप एक महीने का एक लाख रुपए की कमाई कर सकते हैं अगर आप को किसी सब्जेक्ट में मास्टरी है। 

Scope of coaching classes

जैसा कि मैंने पहले बताया कि मांग दिनों दिन बढ़ते जा रही है। बीते पांच साल में कोचिंग इंडस्ट्री में 35% की ग्रोथ हुई है। ओर आने वाले समय में यह बड़ने वाली है। आप इस बात से अंदाजा लगा सकते हैं कि कोचिंग इंडस्ट्री का स्कोप कितना बड़ा है। 
  • आने वाले समय में कोचिंग इंडस्ट्री सबसे बड़ी इंडस्ट्री होगी।
  • हर बच्चे को कोचिंग की जरूरत पड़ रही है।


Advantage of coaching classes

Coaching classes केसे खोले

  1. खुद का बिजनेस करने की आजादी।
  2. खुद के मालिक।
  3. खुद की पहेचान बनना।
  4. अपने अनुसार समय का उपयोग करना।
  5. अच्छी खासी कमाई होना।
  6. स्टूडेंट्स को अच्छी शिक्षा मिलना।
  7. कम समय में ज्यादा कमाई करना।
  8. खुद का ब्रांड बनना ।
  9. नोकरी से छुटकारा मिलना।


कोचिंग क्लासेस खोलने के कहीं सारे लाभ है।

Types of Coaching classes

 वैसे तो कोचिंग के कहीं सारे प्रकार है जैसे- बिजनेस कोचिंग, स्टूडेंट्स कोचिंग, आर्मी ट्रेनिंग कोचिंग,आदि। आप जिस क्षेत्र में माहिर हैं उस सब्जेक्ट की कोचिंग सेंटर खोल सकते हैं। आज कल के समय में तो hair cutting  की भी कोचिंग दे जाती हैं। 

Conclusion

दोस्तो हम आपसे यही कहना चाहेंगे कि आप अपनी रुचि या जिस सब्जेक्ट में मास्टरी हासिल हो उसी की कोचिंग स्टार्ट करे। उम्मीद करते हैं आपको  coaching classes केसे खोले जानकारी मिली होगी। यह जानकारी अच्छी लगी हो तो प्लीज like share  जरूर करे। ओर new business ideas को फॉलो करें।  ताकि आपको

न्यू न्यू बिजनेस आइडिया मिलते रहे। अगर आपका कोई सवाल है तो प्लीज कमेंट जरूर करें।
धन्यवाद।

No comments:

Post a Comment